All Jharkhand Competitive Exam JSSC, JPSC, Current Affairs, SSC CGL, K-12, NEET-Medical (Botany+Zoology), CSIR-NET(Life Science)

Sunday, May 23, 2021

Khond Janjati Ka Samanya Parichay (खोंड जनजाति का सामान्य परिचय)

Khond Janjati Ka Samanya Parichay

➧ खोंड झारखंड की एक अल्पसंख्यक जनजाति है 

➧ इस जनजाति का संबंध द्रविड़ समूह से है

➧ यह जनजाति एक लघु जनजाति है। 

➧ 2011 की जनगणना के के अनुसार इनकी संख्या 221 (0.003%) है 

खोंड जनजाति का सामान्य परिचय

➧ यह झारखंड के संथाल परगना क्षेत्र में प्रमुखता से पाए जाते हैं। इसके अलावा उत्तरी तथा दक्षिणी छोटानागपुर, पलामू तथा कोल्हान प्रमंडल में भी इनका निवास है 

➧ इस जनजाति की भाषा कोंधी है  

➧ समाज एवं संस्कृति 

➧ इस जनजाति में वरमाला की प्रथा प्रचलित है 

 इनके ग्राम संगठन का मुखिया गौटिया कहलाता है 

➧ इनके प्रमुख पर्व-त्योहार सरहुल, सोहराई, करमा,  दशहरा, दीपावली, रामनवमी, नबानन्द आदि है  

➧ नबानन्द त्यौहार में नए चावल को पकाया जाता है 

➧ इस जनजाति की 3 प्रजातियां है:-

 (i) कुहिया : पहाड़ी भागों में निवास करती है 

(ii) डोंगरिया : पहाड़ों के निचली तल्लों में रहकर बगवानी करती है

(iii) देशिया : समतल भूमि में रहकर कृषि कार्य करती है 

 आर्थिक व्यवस्था

➧ इनका प्रमुख पेशा कृषि कार्य तथा मजदूरी करना है  

➧ इस जनजाति में झूम खेती को पोड़चा कहा जाता है  

➧ धार्मिक व्यवस्था

➧ इनके प्रमुख देवता सूर्य हैं जिन्हें बेंलापुन कहा जाता है 

➧ इस जनजाति में नरबलि की प्रथा प्रचलित है, जिसे मरियाह के नाम से जाना जाता है  

👉 Previous Page:बथुड़ी जनजाति का सामान्य परिचय

                                                                              👉 Next Page:बिंझिया जनजाति का सामान्य परिचय


Share:

0 comments:

Post a Comment

Unordered List

Search This Blog

Powered by Blogger.

About Me

My photo
Education Marks Proper Humanity.

Text Widget

Featured Posts

Popular Posts

Blog Archive